May 18, 2024 10:40 pm

Search
Close this search box.

न्याय के लिए दर-दर भटकने को मजबूर है विवाहिता चांदनी गौतम

Picture of BAHUJAN NEWS DESK

BAHUJAN NEWS DESK

मलिहाबाद लखनऊ। प्रदेश की योगी सरकार जहां महिला सशक्तिकरण को लेकर बड़े-बड़े दावे करती हैं लेकिन प्रदेश की राजधानी लखनऊ की कोतवाली मलिहाबाद क्षेत्र की महिला न्याय पाने के लिए दर-दर भटक रही है आपको बताते चलें कि चांदनी गौतम पुत्री कमलेश कुमार निवासी अंटा खेड़ा मजरा जमोलिया का विवाह लगभग 2 वर्ष पूर्व अमित पुत्र आसाराम निवासी औरास हसनगंज उन्नाव के साथ हुआ था ससुराली जनों ने कम दहेज मिलने के कारण मारते पीटते गंदी गंदी गालियां देते हैं यहां तक की 12 लाख रुपए मार्केट बनवाने के लिए मांगते हैं जबकि मेरे पिता कमलेश कुमार ने बड़ी मुश्किल से उधार व्यवहार लेकर ढाई लाख रुपए दिए थे एक बार अपने मायके शादी समारोह में आई थी ठीक दूसरे दिन पति अमित घर आकर हमें जबरदस्ती लिवा ले गए जब घर गए तो ससुर आसाराम व सासु रमापति गंदी गंदी गालियां देकर मारा-पीटा और नंद अंकिता व सुनैना कम दहेज मिलने के कारण प्रताड़ित करती रहती है इसका फैसला एक बार मलिहाबाद थाने में दोनों पक्षों को बुलाकर हुआ था लेकिन जब मैं ससुराल गई कुछ समय बाद भतीजी का छठ्ठी होने के कारण भाई हमें लेने आए थे लेकिन पति व ससुराल धमकाते हुए कहा कि उपरोक्त दहेज अगर नहीं मिला मैं तो तलाक का मुकदमा डाल दूंगा और हम नहीं भेजेंगे अगर अपनी बहन को आप ले जाएंगे तो हम इनको कभी नहीं लाएंगे यहां तक की मेरे पिता और भाई को कुछ बाहरी लोग राजेंद्र पुत्र मूलचंद व अन्य अज्ञात व्यक्तियों ने मां को भी मारा पीटा हम न्याय के लिए दर दर भटक रहे हैं हम शासन प्रशासन से गुहार लगाते हैं कि हमें न्याय दिलाया जाए।

रिपोर्ट –  मदन सिंह

What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!