May 18, 2024 8:33 am

Search
Close this search box.

जननी सुरक्षा योजना के प्रभावी क्रियान्वयन न होने पर डीएम ने नाराजगी जताई

Picture of BAHUJAN NEWS DESK

BAHUJAN NEWS DESK

रिपोर्ट – मदन सिंह

देवरिया। जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में आज सीएमओ कार्यालय स्थित धनवन्तरि सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति के शासी निकाय की मासिक समीक्षा बैठक आयोजित हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर संस्थागत प्रसव बढाने के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जननी सुरक्षा योजना के तहत सरकारी अस्पतालों में गर्भवती महिलाओं के प्रसव को बढ़ावा देना चाहिए। निजी अस्पतालों में प्रसव कराने की वजह से कई परिवार अकारण गरीबी की ओर उन्मुख हो रहे हैं।

जिलाधिकारी ने जननी सुरक्षा योजना के तहत अक्टूबर माह में लक्ष्य के सापेक्ष होने वाले प्रसव की कम संख्या पर गहरी नाराजगी व्यक्त की। अक्टूबर माह में जनपद का क्रमिक लक्ष्य 27,849 था जिसके सापेक्ष 21,198 प्रसव ही कराया जा सका। जिलाधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सलेमपुर में 2,097 लक्ष्य के सापेक्ष महज 1,258 प्रसव होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए एमओआईसी डॉ अतुल कुमार से स्पष्टीकरण तलब किया है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रामपुर कारखाना, बैतालपुर, पथरदेवा और बनकटा में भी गत वर्ष की तुलना में कम संस्थागत प्रसव दर्ज किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जननी सुरक्षा योजना के आंकड़ों में गिरावट की वजह से कई परिवार गरीबी की ओर उन्मुख हुए होंगे।

वीएचएसएनडी के तहत होने वाले टीकाकरण कार्यक्रम में रामपुर कारखाना की खराब स्थिति मिलने पर डीएम ने कड़ी फटकार लगाई और उनका वेतन रोकने का निर्देश दिया। उन्होंने जिला कार्यक्रम अधिकारी को समस्त एमओआईसी के साथ साप्ताहिक आधार पर संपर्क कर वीएचएसएनडी सत्र को प्रभावी बनाने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि नियमित टीकाकरण अभियान के तहत आयोजित होने वाले प्रत्येक टीकाकरण सत्र में वेइंग मशीन सहित समस्त आवश्यक उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए।

जिलाधिकारी ने नसबंदी अभियान की भी समीक्षा की। अभी तक 202 लक्ष्य के सापेक्ष 176 महिलाओं की तथा पुरुषों की तीन नसबंदी के लक्ष्य के सापेक्ष 3 की प्राप्ति की जा चुकी है। आकांक्षात्मक ब्लॉक गौरी बाजार स्थित स्वास्थ्य केंद्र को एक एंबुलेंस उपलब्ध कराई जा रही है। जिलाधिकारी ने समस्त एमओआईसी को निष्प्रयोज्य भवन की सूची उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

बैठक में सीडीओ रवींद्र कुमार, मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ राजेश कुमार बरनवाल, सीएमओ डॉ राजेश झा, सीएमएस डॉ एएन वर्मा, सीएमएस (महिला) डॉ अल्पना रानी, एसीएमओ डॉ सुरेंद्र सिंह डिप्टी सीएमओ बीपी सिंह, बीएसए हरिश्चंद्र नाथ, डीपीआरओ अविनाश कुमार सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!