May 22, 2024 7:35 am

Search
Close this search box.

गर्मियो में सेहत के लिए वरदान है, घड़े का पानी

Picture of BAHUJAN NEWS DESK

BAHUJAN NEWS DESK

मलिहाबाद लखनऊ। राजधानी लखनऊ के मलिहाबाद क्षेत्र में पीढ़ियों से घरों में पानी को पीने के लिए घड़े का ही इस्तेमाल किया जाता रहा है। इसे ऐसे ही अमृत नहीं कहते हैं अगर आप भी इसके फायदे जान लेंगे तो आप लोग भी घड़े का पानी पीना शुरू कर देंगे लेकिन समय के परिवर्तन के साथ ही साथ आज हर तबके के लोगों की पसंद सस्ते घड़े की जगह महंगे फ्रिज ने ले ली है क्योंकि आज डिजिटल लाइफ का जमाना है, लेकिन घड़े का निर्मल स्वच्छ जल व गरीबों की फ्रिज कहे जाने वाले मिट्टी के घड़े का पानी सेहत के लिए आज भी अमृत समान है। कुछ लोग आज भी घड़े के पानी की अहमियत को समझते हैं ।वे लोग इसका इस्तेमाल करते हैं जीवन को स्वस्थ व सेहतमंद रखने के लिए यह सस्ता व आसान उपाय है कुम्हारो द्वारा तैयार किए मिट्टी के मटके, सुराही व घड़े की एक जमाने पहले बड़ी मांग हुआ करती थी।

कुम्हारों का कहना है कि अब यह कुछ ही लोगों की पसंद बन कर रह गये है।आजकल घड़े हम लोग बाग बगीचों में प्याऊ में व कुछ ही घरों में देखने को मिलता हैं इसलिए कुम्हारों का कहना है कि गर्मी के समय पहले हमारी सहालग जैसी होती थी लेकिन अब यह मिट्टी के घड़े व सुराही सिर्फ शोपीस बनकर रह गए हैं पर कोरोना काल में फिर से मिट्टी के घड़ों की मांग बढ़ गयी है लोग फ्रिज के पानी को छोड़ घड़े का पानी पीना पसंद कर रहे हैं और यह सही भी है क्योंकि फ्रिज का ठंडा पानी शरीर को ठंडक तो पंहुचाता है लेकिन प्यास नहीं बुझाता साथ ही तमाम बिमारियां भी बनाता है। आजकल ज्यादातर घरों में घड़े की जगह फ्रिज ने ले ली है इसलिए जब कभी लोगों को प्यास लगती है तो प्यास बुझाने के लिए वह लोग फ्रिज के पानी का ही इस्तेमाल करते हैं लेकिन यह फ्रिज का पानी हमारे शरीर के तापमान की तुलना में तीन गुना अधिक ठंडा रहता है यह पानी हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है।

वहीं दूसरी ओर मिट्टी से बने घड़े का पानी हमारे सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है क्योंकि बड़े बुजुर्गो व वैद्य लोग बताते हैं। कि मिट्टी में कई प्रकार के रोगों से लड़ने की क्षमता होती है घड़े में रखा पानी पाचन क्रिया को दुरुस्त करता है जबकि प्लास्टिक की बोतलों में स्टोर किया हुआ पानी में सैकड़ों अशुद्धियां हो जाती है मटके का पानी ना तो बहुत ही ठंडा होता है ना बहुत ही गर्म इसलिए यह न केवल हमारे शरीर को शीतलता पहुंचाता है बल्कि यह रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है इसको पीने से हमारे शरीर में टेस्टोस्टेरीन बढ़ जाता है मिट्टी में पानी को शुद्ध करने के खास गुण मौजूद होते हैं जो पानी में घुले विषैले अशुद्धियों को सोंखकर उन्हें शुद्ध बना देती हैं लोगों का मानना है कि मिट्टी के घड़े में रखे पानी से आती भीनी भीनी खुशबू पानी के स्वाद को दुगुना कर देती है अगर फ्रिज के पानी के बदले घड़े में रखे पानी पीने की आदत डाल ली जाए तो यह किसी अमृत से कम नहीं होगा ।

What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!