May 18, 2024 10:03 pm

Search
Close this search box.

मच्छरजनित बीमारियों से निपटने को चिकित्सकों को दिया प्रशिक्षण

Picture of BAHUJAN NEWS DESK

BAHUJAN NEWS DESK

लखनऊ। राजधानी के निजी अस्पतालों को मच्छरजनित बीमारियों से निपटने के लिए तैयारी तेज कर दी गयी है। शुक्रवार को केंद्र सरकार द्वारा डेंगू चिकुनगुनिया और मलेरिया के प्रबंधन और इलाज के लिए नए दिशा निर्देश जारी किए गए। जिसे निजी अस्पतालों के चिकित्सकों को दिशा निदेर्शों के बारे में जानकारी देने के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम स्वास्थ्य विभाग के तत्वावधान एवं गोदरेज और पाथ-सीएचआरआई संस्था के सहयोग से किया गया। जिसमें निजी चिकित्सालयों से विशेषज्ञ चिकित्सक, फिजीशियन एवं इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर शामिल हुए।

वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल ने कहा कि यह पहली बार हो रहा है कि किसी जिले में निजी चिकित्सालयों के चिकित्सकों को शामिल करते हुए नवीन उपचार प्रोटोकॉल पर प्रशिक्षण कराया गया है। किसी भी बीमारी के इलाज में सरकारी के साथ निजी चिकित्सकों की भूमिका अहम है। इसी क्रम में डेंगू, मेलरिया, चिकुनगुनिया जैसी बीमारियाँ हैं जिनके सही प्रबंधन और इलाज से किसी भी अनहोनी घटना को होने से रोका जा सकता है। इन बीमारियों पर संयुक्त प्रयासों के माध्यम से ही काबू पाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि लखनऊ में आस-पास के 15 जिलों से लोग सरकारी और निजी दोनों ही अस्पतालों में इलाज के लिए जाते हैं। ऐसे में इलाज के नए प्रोटोकॉल पर दिया गया यह प्रशिक्षण फायदेमंद साबित होगा।

उन्होंने प्रशिक्षण के आयोजन को लेकर गोदरेज सीएसआर और स्वयंसेवी संस्था पाथ-सीएचआरआई का धन्यवाद किया गया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इन बीमारियों के नियंत्रण पर समुदाय की भागीदारी भी बहुत जरूरी है। इसी क्रम में वेक्टरजनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डा. गोपी लाल ने बताया कि इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के बाद सरकारी और निजी दोनों ही चिकित्सालयों में डेंगू और चिकनगुनिया के इलाज के नवीन प्रोटोकॉल के लागू होने के बाद रोगियों को और बेहतर और एक समान इलाज मिल सकेगा।

इसी क्रम में जिला मलेरिया अधिकारी डा. रितु श्रीवास्तव ने बताया कि बुखार के मरीज की मलेरिया जांच की जानी चाहिए और जो पॉजिटिव हों उन्हें त्वरित और पूर्ण उपचार शुरू करें ताकि हम रोग के संचरण की चेन को तोड़ सकें डेंगू में तेज बुखार के साथ सिर दर्द, आँखों के आस-पास और जोड़ों में दर्द होता है, आँखें लाल हो जाती हैं। गंभीर स्थति में नाक और मसूड़ों से खून भी आने लगता है। कार्यक्रम के अंत में जिला मलेरिया अधिकारी और उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ निशांत,उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. केडी मिश्रा, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी योगेश रघुवंशी समेत मौजूद रहे।

What does "money" mean to you?
  • Add your answer
error: Content is protected !!